नगर.

दिल वह नगर नही की आबाद हो सके,

पछताओगे सुनो यह बस्ती उजाड के ।

No comments:

होशियार कौवा.