खंजर

यह सच है दोस्तो किसीसे प्यार ना करना,
कभी किसी का ऎतबार ना करना,
थाम के खंजर अपने ही हाथोमें,
बेदर्दी से अपने दिल पर वार ना करना ।

No comments:

होशियार कौवा.