सहारा.

ज़माने मे कोई ना सहारा नज़र आया,
बस तुही एक हमारा नज़र आया,
तेरे ईश्क मे इस कदर बहते रहे,
ना तुफान नज़र आया ना किनारा नज़र आया।

2 comments:

rakesh verma said...

love

arya said...

Jabardast

होशियार कौवा.