दोस्ती.

सौ बेवफाई कबूल है एक वफाई के लिये,
सौ ऑसू कबूल है एक मुस्कूराहट के लिये,
हम तो मोहताज है आपके प्यार के लिये,
सौ दुश्मन कबूल है आपकी दोस्ती के लिये ।

No comments:

होशियार कौवा.